मैं दोहरे शतक के बारे में नहीं सोचता – रोहित शर्मा

मुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी बल्लेबाज रोहित शर्मा का कहना है कि वह मैदान पर उतरने के बाद शतक या दोहरा शतक लगाने के बारे में कभी नहीं सोचते। रोहित ने कहा कि उनका मकसद अच्छे रन बनाना और टीम को बेहतर स्थिति में पहुंचाना होता है। चौथे वनडे मैच में रोहित ने भारत के लिए 162 रनों की पारी खेली थी। ऐसे में दोहरे शतक के बारे में उन्होंने कहा, ‘बल्लेबाजी के दौरान मैं कभी भी शतक या दोहरे शतक के बारे में नहीं सोचता। मैं केवल मैदान पर उतरकर बल्लेबाजी करते हुए अच्छे रन बनाना और अपनी टीम के मजबूत स्थिति में पहुंचाने के बारे में सोचता हूं।’

इस मैच में रोहित ने 137 गेंद पर 162 रन बनाए। अपनी इस पारी में उन्होंने 20 चौके और 4 छक्के लगाए।रोहित ने कहा, ‘मैंने सीसीआई में बहुत क्रिकेट खेला है और हमेशा ब्रेबॉर्न स्टेडियम में बल्लेबाजी करने का आनंद लिया है। यह अच्छी पिच है और आपको अच्छे शॉट मिलते हैं। ऐसे में जब आप एक ऐसे मैदान पर कदम रखते हैं, जहां आपने कई बार मैच खेले हैं, तो आप हमेशा आत्मविश्वास के साथ उतरते हैं।’ रोहित ने कहा कि सोमवार को खेले गए मैच के दौरान वह इसी आत्मविश्वास के साथ मैदान पर उतरे थे। वह इस पिच को समझते हैं और स्पिन गेंदबाजी में इस पिच की प्रतिक्रिया को भी। ऐसी चीजें काफी अहम होती हैं।

रोहित के इस बड़े शतक की बदौलत भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 377 रन का स्कोर बनाया।इसके बाद उन्होंने फिल्डिंग करते हुए स्लिप में पहले खलील अहमद की गेंद पर सैमुअल्स का कैच पकड़ा और उसके बाद कुलदीप यादव की गेंदबाजी के दौरान उन्होंने फबियन एलेन और एशले नर्स का कैच भी पकड़ा। इस तरह सोमवार का दिन उनके ये रिकॉर्डतोड़ दिन रहा। भारत की तरफ से वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्का लगाने के मामले में रोहित शर्मा ने सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ दिया है। वनडे क्रिकेट में सचिन के नाम पर कुल 195 छक्के थे, लेकिन रोहित ने अब तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।

 

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *